मरने के सिवा कोई दूसरा चारा नहीं फसल सूखने पर बौखलाए बांदा के ऐला गाँव के किसान

जिला बांदा, ब्लाक नरैनी, गांव ऐला। नरैनी तहसील मा पचासों किसान आपन धान के सूख फसल लइ के धरना प्रदर्शन करिन हैं।काहे से इं किसानन के धान के फसल मा कीड़ा लाग गा रहै।किसानन का कहब है कि सरकार फसल का मुआवजा न देइ तौ उंई भुखमरी के कगार मा आ जइहैं।
मुनिया अउर शिवकालिया का कहब है कि फसल सूखे से कुछौ खाय का नहीं आय हमार आमदनी का दूसर साधन नहीं आय। मुआवजा खातिर हेंया आय हन।
शंकरलाला कुशवाहा का कहब है कि मड़ई मेहनत कइके धान के फसल तैयार करिन रहै। खाद, बीज अउर रुपिया खर्चा करिन रहै पै फसल सूखे से सब चौपट होइ गा है।
सरकार हमार सुनवाई न करी तौ परिवार समेत जान दइ देबै। जबै खेत मा फसल न होइ तौ का माटी खइबै।रामहित बताइस कि दुइ बीघा खेत है अउर वा खेत के फसल भी सूख गे तौ भूखन मरित है।लेखपाल इन्द्रजीत कुशवाहा का कहब है कि किसानन के दरखास लइ लीन गे है गांव के जांच जल्दी कीन जई।

बाईलाइन-गीता देवी

Published on Nov 9, 2017