मयके मे करत हे गुजारो

kharela mahila mudda copyजिला महोबा, ब्लाक चरखरी, कस्बा खरेला। एते सुशीला को अरोप है की दो साल पहले में देवर गंगा के साथ हिन्दू रिति रीवाज के साथ कोंटमेरिज करो हतो। अब वा मोखा नीक से नई राखत ओर मारपीट करत हे। इसे मइके में रहे के गुजर करत हो।
सुशीला बताउत हे कि लगभग तीन साल हो गए मोओ अदमी एक्सीडेण्ट से खत्तम हो गओ हतो ओर मोरे 5 बच्चा भी हते तो देवर कहत हतो कि में तोए 5 बच्चन का खर्चा देहे इ मारे में उखे साथ कोटमैरिज करा के रहन लगी हती। एक साल देवर गंगा ने मोखा नीक से रखो हे फिर मोरे पहले वाले आदमी के मोत को 3 लाख रुपइया किलेम मिलो हतो तो मैने अपने बच्च्न के नाम जमा कर दओ हतो। इ मरे मोखा अरे मोर बच्चन खा मरत हे कहत हे मोख रखे को हे और जो तोखा मोरे घर मा रहे का हे तो चहे जहां से पओ मुखा दरु पीये खा रूपइया दे। इ मारे मे अपने मेके मुस्कुरा मा रहत हों। 5 बच्चन साथे अकेले किराया के घर में रहत हों ओर खाना खार्च का अदमी के उपर मुकदमा लगाये हों।
अदमी गंगा कहत हें कि वा खोत मयके से नई आउत हे। में कउ दइयां लेवायें गओ हों। जब नई तो मुकदमा लगा दओ हे।