मनसवा मारिस चाकू, भे मउत

जिला चित्रकूट, ब्लाक मानिकपुर, गांव सरहट, पुरवा सरबदा। हिंया के रहैं वाली उर्मिला का मामा नत्थू कहिस कि वहिकर मनसवा उर्मिला के चाकू मार दिहिस। यहै से उर्मिला के मउत होइगे। उर्मिला के शादी पन्द्रह बरस पहिले चुरेह कशेरूवा गांव मा रग्घू के साथै भे रहै। मनसवा शक करत रहै अउर मारत रहै। यहै से वा तीन बरस से अपने मइके मा रहत रहै, पै 20 अगस्त 2014 का हद होइगे। मनसवा उर्मिला के चाकू मार दिहिस। यहै से उर्मिला के मउत होइगे। उर्मिला के मामा नत्थू का कहब हवै कि मोर भनेंज के चार बच्चा हवै । जबै से उर्मिला के शादी भे रहै तबहिने से दामाद रग्धू मारत रहै। वा उर्मिला के ऊपर शक करत रहै। यहै से उर्मिला अपने बच्चन का लइके मइके मा आ के रहैं लाग रहै। हिंया भी वहिका मनसवा आवत रहै अउर लड़ाई करत रहै। 20 अगस्त 2014 का आवा अउर उर्मिला के चाकू मार दिहिस। उर्मिला दरे मा मरगे। यहिके सूचना मिलै मा मानिकपुर थाना के पुलिस अउर एस. डी. एम. चन्द्र प्रकाश उपाध्याय आय रहै। मानिकपुर एस.डी.एम. चन्द्र प्रकाश उपाध्याय का कहब हवै कि रग्धू का पकड़ के जेल भेजा जई। मानिकपुर थाना के पुलिस कहिस कि रग्घू का पकड़ के जेल मा बंद कीन जई।