मनरेगा का काम ठप, जाब कार्ड मा नहीं मिला काम

bdhra gab kardजिला चित्रकूट, ब्लाक रामनगर, गांव अमवा, पुरवा भदउरा। हिंया के मड़ई कहिन कि पंचवर्षीय पूर होय वाली हवै, पै प्रधान द्वारका प्रसाद मनरेगा के तहत काम नहीं दिहिस हवै। मड़ई 5 जून का प्रधान से मौखिक कहेन। यहिसे पहिले भी प्रधान से कहा गा, पै वा ध्यान नहीं दिहिस।

पुरवा के उर्मिला राम दुलारी अउर शिवलली का कहब हवै कि हमरे जाॅबकार्ड बने हवैं। जाबकार्ड खाली धरे हवै। हमरे मनसवा कमाये खातिर परदेश जात हवै। अगर पुरवा मा मनरेगा के तहत काम मिलै तौ मड़ई आपन बाल बच्चा छोड़ के कमाये खातिर परदेश काहे का जाये। जबै वोट लें का रहै तौ प्रधान कहत रहै कि जनता के हर समस्या का सुलझावा जई, पै जीतै के बाद एकौ दरकी पुरवा मा नहीं आवा आय ।

प्रधान द्वारका प्रसाद का कहब हवै कि तीन हजार के आबादी मा कुल तीन सौ जाॅबकार्ड बने हवै। हर घर के मड़इन का पन्द्रह पन्द्रह दिन काम दीन गा हवै। मड़ई यहिनतान कहत हवै अबै पुरवा मा खेत के समतलीकरण का काम चलत हवै

रामनगर बी. डी. ओ. राकेश सोनी का कहब हवै कि मड़ई मनरेगा मा खुदै काम नहीं करैं चाहत हवै। मड़ई कहत हवै कि मनरेगा मा कम मजूरी मिलत हवै। अबै भदउरा पुरवा मा समतलीकरण का काम दस लोग करत हवैं। मड़ई काम न करिहैं तौ का उनका घर से बोलावा जई।