मध्य प्रदेश के मंदसौर में 7 साल की बच्ची के बलात्कार के बाद विरोध में शहर आया सड़कों पर

साभार: फेसबुक

मध्य प्रदेश के मंदसौर में 7 साल की बच्ची के साथ निर्भया मामले जैसी हैवानियत सामने आया है। जिसके बाद जिले में भारी प्रदर्शन जारी है। लोगों ने विरोध करते हुए दुकानें बंद रखी गईं।
बता दें, मंदसौर में सरस्वती शिशु मंदिर में पढ़ने वाली सात साल की बच्ची को 26 जून को छुट्‌टी के बाद स्कूल गेट से आरोपी इरफान लड्‌डू खिलाने के बहाने अपने साथ ले गया था।
उसी शाम परिवार के लोगों ने उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। उसे गंभीर हालात में इंदौर ले जाया गया।
पुलिस ने मामले में जांच के लिए सीसीटीवी के फुटेज देखे जिसमें बच्ची को एक युवक के साथ जाते देखा गया और उसी के आधार पर गिरफ़्तारी की गई।
पुलिस के अनुसार बच्ची को अभियुक्त ने टॉफ़ी और मिठाई का लालच दिया था जिसकी वजह से वह उसके साथ चली गई। जहां से लड़की मिली थी पुलिस ने उस जगह से शराब की बोतल भी बरामद की है।
इलाज कर रहे चिकित्सकों ने बच्ची को बचाने के लिए ऑपरेशन किया है, लेकिन पीड़िता की स्थिति गंभीर बनी हुई है। बच्ची के जिस्म के कई जगह गहरे जख़्म है। बच्ची का मलाशय फट गया है और बच्ची की आंतों को हटाना पड़ा है। वहीं गले काटने के प्रयास में बच्ची का गले में तीन इंच गहरा जख़्म आरोपी ने कर दिया था।
इस मामले में शहर में सांप्रदायिक तनाव की स्थिति भी पैदा हो गई है क्योंकि बलात्कार का आरोप दूसरे समुदाय के व्यक्ति पर लगा है। अभियुक्त के लिए ख़ुद उसके समुदाय के स्थानीय लोग फाँसी तक की माँग कर रहे हैं। उन लोगों ने मामले में जल्द से जल्द फ़ैसला देने की माँग की है।