मध्यप्रदेश के विश्वविद्यालयों में आयोजित योग दिवस की सीडी और फोटो राजभवन संग साँझा करने का आदेश

साभार: विकिपीडिया

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के आयोजन को लेकर मध्य प्रदेश राजभवन से आई एक सूचना के अनुसार, सभी सरकारी और गैरसरकारी विश्वविद्यालयों को जारी इस सर्कुलर में 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस आयोजित करने के लिए कहा गया है।
योग दिवस का कार्यक्रम विश्वविद्यालय और उनसे जुड़े कॉलेजों में आयोजित हुआ है या नहीं इसकी मॉनिटरिंग(जाँच) भी राजभवन की ओर से की जाएगी। इसके लिए बाकायदा सर्कुलर(सूचना) में ही ये शामिल है कि संबंधित यूनिवर्सिटी योग दिवस के आयोजन की फोटो, सीडी और उसमें शामिल होने वाले छात्रों की संख्या की जानकारी राजभवन को भेजेंगे।
वहीं, इस सूचना के बाद से योग दिवस को लेकर मध्य प्रदेश राजभवन की सक्रियता से सूबे में सियासी घमासान शुरु हो गया है। कांग्रेस का आरोप है कि राजभवन अपनी सीमाओं से बाहर जाकर काम कर रहा है।
जबकि कांग्रेस के आरोपों को खारिज करते हुए बीजेपी ने राज्यापाल आनंदी बेन पटेल का बचाव किया है। बीजेपी की मानें तो कुलाधिपति होने के नाते यूनिवर्सिटी के आयोजन की मॉनिटरिंग राजभवन की ओर से किए जाने में कोई ऐतराज नहीं है।
बता दें कि प्रदेश की राज्यपाल बनीं आनंदीबेन पटेल पहली बार अपनी कार्यशैली को लेकर कई बार विपक्ष के निशाने पर चुकी हैं। इससे पहले सतना में बीजेपी नेताओं को सियासी गुरुमंत्र देने पर भी कांग्रेस उनकी संवैधानिक सीमाओं पर सवाल उठा चुकी है।