मड़ई कहिन कि हेंया भी रूकै रेलगाड़ी

Railजिला चित्रकूट, ब्लाक मानिकपुर, गांव इटवां डुडैला। या क्षेत्र के पचासन गांव के मड़ई जनता एक्सप्रेस रूकैं के मांग करत हवैं। 9 दिसंबर का या मामला स्टेशन प्रबंधक के पास फेर से आवा हवै।
इटवां डुडैला के देशराज, कमला मंगल अउर टिकरिया गांव के मंजू, अमित का कहब हवै कि हमका गांव मा रहत तीन पीढ़ी बीत गे हवै, पै आज तक शटल पैंसेंजर के अलावा कउनौ रेलगाड़ी नहीं रूकत आय। अगर हमैं सतना इलाहाबाद से आगे जाय का होत हवै तौ दुगुना किराया बस मा दइके जाय का परत हवै। हिंया से शटल चलत हवै तौ इलाहाबाद तक जात हवै। यहिसे हमैं मानिकपुर स्टेशन या फेर सतना स्टेशन तक जाय खातिर बस मा बीस रूपिया के जघा सौ रूपिया किराया लगा के रेलगाड़ी पकड़ै जाय का पड़त हवै।
मानिकपुर स्टेशन प्रबन्धक जवाहर लाल का कहब हवै कि एक्सप्रेस रूकब मुश्किल है। हां इटारसी पैसेंजर रेलगाड़ी का इलाहाबाद से जबलपुर तक जाये खातिर 18 नवम्बर 2014 का डी.आर.एम. का लिखित भेजा गा हवै। आज तक हुंवा से कुछौ जवाब नहीं मिला आय।