मजेदार चाय चाहिए? तो चलिए बांदा के बाबूलाल चौराहे में अनिल चाय की दुकान पर

भारत मा चाय के तौ सबै दीवाने है वइसे भारत मा चाय तौ अंग्रेज लाइन रहै पै अब या चाय हमार देश के मड़इन का इनतान आपन बनाइस कि कउनौ नहीं कहि सकत कि चाय दूसर देश से आई है अब तौ चाय भारत के सबै गली अउर नुक्कड़ मा बिकत है तौ आओ चलित है बांदा जिला के बाबूलाल चौराहा मा हेंया आनिल चाय वाले के दुकान मशहूर है
अरचन बताइस कि हेंया नींक चाय पिये का मिलत है यहै कारन बहुतै दिना से हेंया चाय पिए आवत हौं।बाकी दुकानन मा येत्ती नींक चाय नहीं मिलत आय। दुकानदार अनिल बताइस कि चाय की दुकान तीस–पैंतीस साल पहिले मोर बाप खोलिस रहै। मैं या दुकान मा आठ साल से चाय बनावत हौं, हमार दुकान मा रोज सौ लीटर दूध चाय बनावें मा लाग जात है।नींक चाय के कारन हमार दुकान मा बहुतै दूरी-दूरी से मड़ई चाय पिए आवत है। दुकान के ग्राहक बता सकत हैं कि हमार दुकान मा कउनतान के चाय मिलत है। शमशाद बताइस कि हेंया के चाय मिलावटी नहीं रहत आय यहै कारन मड़ई हेंया आवत है। लल्लू तिवारी बताइस कि हेंया के चाय के खासियत है कि पानी कम अउर दूध ज्यादा रहत है। चाय अच्छे से पका के इलायची अदरख भी डालत हैं। यहै कारन हेंया के चाय स्वादिष्ट रहत है अउर मड़ई ज्यादा आवत है।
रिपोर्टर-गीता देवी

Published on Dec 1, 2017