मजदूरी मिली नहीं कैसे जले घर का चूल्हा, सुनिए चित्रकूट जिले के हनुवाँ पुरवा लोगों की दास्तान

रोजगार के तलाश मा भटकत बेरोजगारन का सौ दिन तक रोजगार देवावै खातिर मनरेगा योजना मा मड़इन का काम तौ दीन जात हवैं पै मजदूरी नहीं मिलत आय। जिला चित्रकूट, ब्लाक मानिकपुर, गांव हनुवा के बजहा पुरवा के मड़इन का आरोप हवै कि मनरेगा के तहत फरवरी 2017 मा काम करै के पूर मजदूरी आज तक नहीं मिली आय। प्रधान संजय मिश्रा का कहब हवै कि कत्तौ-कत्तौ मजदूर हिंया हुंवा चले जात हवैं तौ उनकर हाजिरी नहीं भरी जात आय। यहै कारन पूर मजदूरी नहीं मिलत आय।
गुड़िया का कहब हवै कि एक महीना तक तलैया खोदे का काम करे हौं पै दुइ हफ्ता के मजदूरी नहीं मिली आय। बलिया देवी का कहब हवै कि एक महीना तक पौधा अउर नदिया मा काम कीने हौं। दुइ हजार बस मजदूरी बस मिली हवै। सुमतिया का कहब हवै कि बीस दिन काम करै हौं पै दूइ हफ्ता का रुपिया बस मिला हवै। जियालाल का कहब हवै कि सौ रुपिया के हिसाब से मजदूरी दीन जात हवै। सचिव भूपेन्द्र दिवेदी का कहब हवै कि कउनौ मजदूर मानक के हिसाब से कम काम करत हवै तौ वहिका मजदूरी कम मिलत हवै। बीडीओ आशाराम का कहब हवै कि सबै मजदूरन का मजदूरी मिल गें हवैं कउनौ कारन से कुछ मड़इन के मजदूरी बाकी हवैं।

रिपोर्टर- सहोद्रा

Published on Jan 23, 2018