मजदूरी का भटकत मड़ई

अतर्रा तहसील मा दरखास दें आये पौहार गांव के मड़ई
अतर्रा तहसील मा दरखास दें आये पौहार गांव के मड़ई

जिला बांदा ब्लाक बबेरू गांव गुजेनी। हेंया के मड़ई बताइन कि उनका मजदूरी का रूपिया नहीं मिला। प्रधान कहिस कि रूपिया मजदूरन के खाता मा आवत है।
मजदूर बाबूलाल, चन्द्रभान अउर मालती बतावत है-“हम जनवरी 2013 मा मनरेगा के तहत खन्ती खोदे रहेन। प्रधान मजदूरी का रूपिया नही देवाइस आय। प्रधान रमेश कुमार कहत है जउन मजदूर ज्यादा काम करिन हैं उनके मजदूरी बाकी है। सचिव हरी नारायण कहत है कि कुछ मजदूरन के मजदूरी परी है, तौ दीन जई। नरैनी ब्लाक के पौहार गांव के मुन्नी अउर अमर बतावत हैं कि हम अगस्त 2013 मा मनरेगा के तहत कुम्हारन पुरवा से चैरही तक चार किलोमीटर सड़क मा चालिस मजदूर काम कीन है, पै मजदूरी आज भी नहीं मिली आय।
प्रधान सियाप्यारी का मनसवा छेदीलाल कहत है कि या काम ठेकेदार के तहत भा है। अब वा ठकेदार कतौ चला गा है। या मारे मजदूरी परी है।