मच्छर मार दवाई छिड़कै के मांग

1 (7)जिला बांदा, ब्लाक महुआ, गांव बरईमानपुर, कस्बा शेरपुर। हेंया के कइयौ मड़ई बताइन कि मच्छरन के बढ़त प्रकोप से दिन का चैन अउर रात के नींद हराम है। उंई मच्छर मार के दवाई छिड़कै के मांग आशा, प्रधान अउर ए.एन.एम. से करिन है, पै या परेशानी मा ध्यान नहीं दीन गा आय।
मच्छर मार दवाई का छिड़काव मलेरिया विभाग हर साल करावत है पै साठ साल के चुन्नीालल का कहब है कि लगभग चालिस साल पहिले घर-घर मशीन से मच्छर मार दवाई का छिड़काव होत रहै। वहिके बाद कतौ भी दवाई का छिड़काव नहीं भा आय। दलित बस्ती के गिरजा, फूला अउर धूनी का कहब है कि ठण्डी मा नींक है कि मुंह ओढ़ के सोइत है तौ मच्छर काट नहीं पावत। नालियन के गंदा होय अउर हमेशा कूड़ा जमा रहैं से मच्छर बहुतै पैदा होत हैं।
पंचायत मित्र रामकिशोर चैरसिया अउर पूर्व प्रधान रामप्रसाद चैरसिया कहिन कि मच्छर मार दवाई छिड़काव के बारे मा उंई चाहत तौ हैं कि छिड़काव होय। मांग केहिसे करैं का है पता निहाय।
आशा बहू राधारानी कहिस कि कुंआ मा नवरात्रि के समय दवाई डाले रहौं। मच्छर मार दवाई छिड़काव के बारे मा पता निहाय।