भूतों का स्वागत

450px-Trick_or_treat_in_swedenबिखरे बाल, लंबे दांत, बहता खून, डरावनी आंखें, फटे चीथड़े कपड़े वाले कुछ लोग कहीं नाचते गाते आपको दिख जाएं तो आप क्या करेंगे? मारे डर के आप वहां से या तो भाग जाएंगे या फिर बेहोश हो जाएंगे। लेकिन 31 अक्टूबर की शाम फ्रांस, चीन, जापान, फिलिपीन्स जैसे देशों में आपको जगह जगह ऐसी पार्टियां होती दिख जाएंगी।
लोग, खासकर बच्चे, डरावने वेशभूषा में घर-घर जाते हैं और लोग उन्हें खाने के लिए कुछ मीठा देते हैं। हैलोवीन नाम के इस त्यौहार को 31 अक्टूबर को मनाया जाता है। इस दिन को मरे और शहीद हुए लोगों की याद में मनाया जाता है। साथ में उनकी आत्माओं के लिए भी मनाया जाता है।

लोगों का मानना है कि नए साल से ठीक एक दिन पहले कई पवित्र आत्माएं यानी मरे हुए लोग धरती पर आते हैं। इनके स्वागत का तरीका बड़ा मजे़दार होता है। क्योंकि स्वागत भूतों का करना होता है इसलिए लोग भूतों की तरह ही तैयार होते हैं। उनके कपडे“ और मेकअप बिल्कुल वैसा ही होता है। सब्जि़यों को तरह तरह डरावने आकार दिए जाते हैं।