भारत-पाक बातचीत अनिश्चितता में

(फोटो साभार- एएफपी)
(फोटो साभार- एएफपी)

भारत-पाक विदेश सचिवों की इस्लामाबाद में होने जा रही बातचीत में सिर्फ बहत्तर घंटे ही बचे हैं मगर इसपर अब भी अनिश्चितता बनी हुई है।
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अज़ीज़ ने कहा था कि भारत-पाक विदेश सचिवों की मुलाकात तय समय पर ही होगी। अज़ीज़ ने कहा कि भारत के सबूतों के
आधार पर हम पठानकोट हमले की जांच कर रहे हैं और भारत-पाक विदेश सचिवों की मुलाकात पर इसका कोई असर नहीं पड़ा है।
सूत्रों के अनुसार पाकिस्तान में गुजरांवाला, झेलम और बहवलपुर इलाकों में छापे मारे गए हैं।
दैनिक भास्कर को दिए गए एक साक्षात्कार में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवल ने कहा, ‘‘हमने उन्हें (पाकिस्तान) बता दिया है जो उन्हें करना है, और उन्होंने हमें आश्वासन दिया है कि वे इस ओर कदम उठाएंगे। जब वे ऐसा करेंगे तो बातचीत आगे बढ़ेगी। अगर वे ऐसा नहीं करते तो (15 जनवरी को) बातचीत का सवाल ही नहीं उठता।’’
डोवल ने बाद में ये स्पष्ट किया कि उन्होंने ये नहीं कहा था कि बातचीत रद्द कर दी जाएगी जैसाकि समाचार पत्र में लिखा गया था।
इस बीच विदेश सचिव एस. जयशंकर जो 15 जनवरी को इस्लामाबाद जाने वाले प्रतिनिधी मंडल का नेतृत्व करने वाले हंै बिना कोई बयान दिए मेल और कोलम्बो के लिए निकल गए। वे यहाँ जाने के बाद पाकिस्तान जाएंगे।