भारत पहुंचा इबोला वायरस

नई दिल्ली। हवाई अड्डे में दक्षिण अफ्रीकी देश लाइबेरिया से भारत पहुंचे छब्बीस साल के एक युवक में इबोला वायरस के लक्षण पाए गए। यह 10 नवंबर को भारत आया था। हालांकि इसके पास लाइबीरिया देश के अस्पताल का इबोला के इलाज के बाद ठीक होने का प्रमाण पत्र था। इस व्यक्ति को तीन महीने तक आम लोगों से दूर अकेले डाक्टरी देख रेख में रखा जाएगा। सितंबर के आखिरी तक यह अस्पताल में भर्ती था। दक्षिण अफ्रीकी देशों में इबोला वायरस के संक्रमण से अब तक चार हज़ार से ज़्यादा मौतें हो चुकी हैं।
इबोला एक ऐसा रोग हौ जो मरीज़ के संपर्क में आने से फैलता है। मरीज़ के पसीने, खून या सांस से निकलने वाली हवा से भी यह फैलता है।