भारत के प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग लाने की तैयारी में लगी पार्टियाँ

साभार: विकिपीडिया

कांग्रेस सहित कई विपक्षी पार्टियां भारत के प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग लाने की तैयारी मे हैं।
एनसीपी नेता डीपी त्रिपाठी ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट के प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग मसौदा प्रस्ताव पर कई पार्टियों ने हस्ताक्षर किए। इसमें एनसीपी, लेफ्ट, टीएमसी और कांग्रेस पार्टी शामिल है।
इससे पहले जनवरी महीने में सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा था कि सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग लाने के लिए विपक्षी पार्टियों से बात हो रही है।
बता दें कि भारत के संविधान में न्यायधीशों पर महाभियोग का उल्लेख अनुच्छेद 124(4) में मिलता है। इसके तहत सुप्रीमकोर्ट या हाईकोर्ट के किसी न्यायाधीश पर साबित कदाचार या अक्षमता के लिए महाभियोग का प्रस्ताव लाया जा सकता है।
अगर विपक्षी पार्टियां जस्टिस दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग लाती है तो देश के न्यायिक इतिहास में वो तीसरे जज होंगे जिनके खिलाफ महाभियोग लाया जाएगा।
बता दें कि जस्टिस मिश्रा ने 27 अगस्त, 2017 को पूर्व मुख्य न्यायाधीश जे एस खेहर के सेवानिवृत्ति के बाद भारत के 45वें मुख्य न्यायाधीश बने। उनका कार्यकाल 2 अक्टूबर, 2018 को समाप्त हो रहा है।