भारतीय क्रिकेट टीम का उभरता सितारा ‘ईशान किशन’

साभार:स्पोर्ट्सकीड़ा
साभार:स्पोर्ट्सकीड़ा

रणजी ट्रॉफी में 18 साल के ईशान किशन ने एक पारी में 336 बॉल पर 273 रन बनाकर खूब वाहवाही बटोरी और वह चर्चा में आ गए। झारखंड की अंडर 19 टीम का यह बल्लेबाज विकेट कीपर भी है इसलिए ईशान को दूसरा धोनी माना जा रहा है।
रणजी ट्रॉफी में खेली गई लंबी पारी में क्रिकेटर ईशान किशन ने 14 छक्के और 21 चौके लगाये। इसके बाद उन्होंने रणजी क्रिकेट में सबसे ज्यादा छक्के मारने के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली। इससे पहले 1990 में हिमाचल प्रदेश के रणजी खिलाड़ी शक्ति सिंह ने 14 छक्के लगाकर 128 रन बनाए थे।
2015 में भी उन्होंने स्पिनरों को मदद कर रही रोजकोट की पिच पर गेंदों की खूब धुनाई की थी और 69 गेंदों पर 87 रन बना दिए थे। ईशान की एक और खूबी है कि उनको बल्लेबाजी में जिस नंबर पर भी भेजा गया उन्होंने अच्छे खेल का प्रदर्शन किया। अंडर 19 टीम के कोच राहुल द्रविड़ खिलाड़ियों के क्रम और कप्तानी में फेरबदल कर सभी खिलाड़ियों को आजमाते रहते हैं। ईशान के खेल से राहुल द्रविड़ बहुत प्रभावित हैं और उनकी प्रशंसा करने से नहीं चूकते।
क्रिकेट ईशान का जुनून है, जिसकी बदौलत वह आज एक मुकाम पर पहुंचे हैं। अपनी क्षमता की वजह से ईशान के साथ सिएट कंपनी ने एक करोड़ रुपए का करार किया। अब वह तीन साल तक सिएट लिखे हुए बल्ले से खेलेंगे। ईशान किशन को अपने आदर्श महेंद्र सिंह धोनी के साथ विजय हजारे ट्रॉफी में खेलने का मौका मिल चुका है। वह आईपीएल में सुरेश रैना की टीम गुजरात लॉयन्स में हैं।