भवन बिना विद्यालय

vidy
पंचायत भवन में पढइत बच्चा

जिला शिवहर, प्रखण्ड तरियानी, जगदीशपुर कोठिया आजाद टोला। इहां के नवसृजित विद्यालय पंचायत भवन में चल रहल हई। एंई विद्यालय में एक सौ उनसठ नामांकन अउर अस्सी से सौ उपस्थित रहई छई।
प्रधानाध्यापक रविन्द्र कुमार सिंह कहलथिन कि इ विद्यालय 29 नवम्बर 2006 में खुललई। तहिया एक साल समुदाय भवन में चललई। इहां के लोग कहलथिन कि अनुसुचित जाति के विद्यालय हई त एही टोला में चले के चाही। तब से इहां पंचायत भवन में चल रहल हई। बांध के बगल में चार बिघा बिहार सरकार के जमीन हई। 2008 में भवन बने के लेल बजट पास भेल। एक लाख के समान भी गिरईली लेकिन गांव के लोग ही बबाल कर देलथिन। कुछ लोग के कहना रहई कि जहां पहिले विद्यालय चललई उहां भवन बने त कुछ लोग के कहना हई कि अभी जहां चल रहल हई उहां बने के चाही। कुछ लोग हमरा उपर गलत आरोप भी लगलथिन। जेई कारण भवन आगे न बन पलई।अब ऐतना बजट में भवन न बनतई। हम नया बजट के लेल लगभग दस बेर आवेदन देली, अभी नवम्बर में भी आवेदन देलीय।
शिक्षिका सीता कुमारी कहलथिन कि इहां विद्यालय ही न हई त शौचालय कहां से होतई। पांच मिनट के लेल घर से अयला के बाद फेर घर ही में जाये के परईय। बच्चा सब भी टिफिन के बाद बांध पर भाग जाई छई। बच्चा के खेले के लेल भी न फिल्ड हई, न पानी पीये के लेल चापाकल। बी.आर.सी. कॉर्डिनेटर मदन मोहन मिश्रा कहलथिन कि जे एक लाख रूपईया प्रधानाध्यापक समान खरीदे में लगयले छथिन से अपने भरे परतई। बाकी रूपईया वापस होतई अउर नया बजट पास होतई। हम सब प्रोसेस में लागल छी उ विद्यालय अनुसुचित टोला में ही बनतई। अभी प्रखण्ड के कुल नौ नवसृजित विद्यालय में भवन न हई।