भट्ठा मा काम करैं गें मजदूरन का मुकदमा मा फंसावैं के धमकी

b bandak nbanaya taza pazजिला बांदा, ब्लाक तिन्दवारी, गांव मवई। हेंया के लगभग बीस परिवार 21 नवम्बर का लड़कन बच्चन समेत एस.पी. का दरखास दें आय रहै। उनकर आरोप रहै कि ईटा भट्ठा मालिक उनकर गृहस्थी रख के मजदूरी भी नहीं दिहिस। या सब ठेकेदार के मिली भगत से भा है।
बलवीर,राकेश,मनोज,भूरा अउर विनोद का कहब है कि महोखर गांव का रहै वाला ठेकेदार मइयादीन के जरिए से हम 22 सितंबर 2015 का राजस्थान ईंटा पाथैं गये रहन। मइयादीन भट्ठा मालिक से मजदूरन का दें के नाम से पांच लाख रूपिया लई लिहिस रहै। हम परिवार समेत राजस्थान के गंगानगर मा दुई महीना तक ईंटा पाथैं का काम कीन। भट्ठा मालिक से जबै हम खर्च खातिर रूपिया मांगा तौ वा ठेकेदार का ढुढ़ै का कहिस। जबै हम ठेकेदार का फोन कीन तौ ठेकेदार होंआ पहुंच के हमै गाली गलौज करिस। ऊपर से तीन हजार रूपिया रोज का काम करैं के मांग करिस। हमार पूर गृहस्थी का एक आदमी का पचास हजार रुपिया का सामान ठेकेदार रख लिहिस। ऊपर से दुई महीना के तीस हजार रुपिया प्रति आदमी के मजदूरी भी नहीं दिहिस। कउनौतान से हम गांव भाग आय। ठेकेदार हेंया आ के तिन्दवारी थाना मा फर्जी दरखास दई दिहिस। हम जबै रपट लिखावैं गयेन तौ तिन्दवारी थाना प्रभारी चिल्ला के भगा दिहिस। कहत रहै कि रपट लिखावैं के कोशिश न करौ नहीं तौ उल्टा तुमका फर्जी मुकदमा लगा के फंसा दीन जई। तबै एस.पी. से गुहार लगावै आय हन।”
एस.पी. आर.पी.पाण्डेय का कहब है कि मामला मोरे जानकारी मा अबै आवा है। जांच कइके कारवाही कीन जई।