‘बैंजो’ सिर्फ संगीत और कुछ नहीं

16_08_2016-banjoposter-wनिर्देशक: रवि जाधव
सितारे: रितेश देशमुख, नरगिस फाकरी

फिल्म की कहानी मुम्बई के रहने वाले बैंजो बजाने वाले नन्द किशोर (रितेश देशमुख) की है जो वहां के लोकल मंत्री के लिए काम भी करता है, साथ ही अपने तीन दोस्तों के साथ कार्यक्रमों में भाग भी लेता है। तभी न्यूयॉर्क से क्रिस (नरगिस फाकरी) मुम्बई आती है जिसका मकसद यहां के लोकल बैंजो बजाने वाले के साथ 2 गाने रिकॉर्ड करना है, जिनको वो न्यूयॉर्क के एक म्यूजिक कॉम्पिटिशन में भेज सके। क्रिस के मुम्बई आने पर कहानी में बहुत सारे मोड़ आते हैं, जिसे जानने के लिए आपको फिल्म देखनी पड़ेगी।
फिल्म की कहानी को असल जिंदगी के काफी करीब रखने की कोशिश की गई है। लेकिन कुछ न कुछ अधूरा सा दिखाई पड़ता है। फिल्म में रितेश देशमुख ने किरदार को बखूबी निभाया है, और नरगिस फाकरी का काम भी अच्छा है।
फिल्म की कमजोर कड़ी इसकी कहानी है हालांकि विशाल-शेखर की जोड़ी ने फिल्म का म्यूजिक अच्छा दिया है और हरेक गीत को फिल्म से जोड़ने की भरपूर कोशिश की है। लेकिन कुछ गाने फिल्म की रफ़्तार को काफी कमजोर कर देते हैं।
रितेश देशमुख और विशाल शेखर के संगीत के प्रशंसक हैं तो एक बार फिल्म देख सकते हैं।

रिपोर्ट- खबर लहिरया ब्यूरो