बैंक मा लगावै चक्क्र

DSC02511
बैंक के द्वारे बइठ जनता

जिला बांदा, ब्लाक तिन्दवारी, कस्बा चिल्ला। हेंया के इलाहाबाद बैंक मा रूपिया निकारै खातिर 23 मई 2013 का कइयौ मेहरिया बइठ रहंै। बैंक वाले उनका रूपिया निकार के नहीं दिहिन।
बंशीडेरा से आई भोलिया ,कैलासिया अउर पच्ची बतावत हैं-‘‘हमार इलाहाबा बंैक मा जमा कीन गा रूपिया नहीं निकरत आय। यहिके खातिर हम लोग तीन दिन से रोजै किराया भाड़ा लगा के अइत हन अउर दिन-दिन भर बैंक मा बइठ रहत हन। पै शाम के निरास होइके घरै लउटैं का परत है। सोचत रहन कि बैंक मा रूपिया जमा है, तौ बिटिया के शादी का होई। अब शादी खातिर खर्च के जरूरत है। या मारे से परेशान हन।
बरेठी गांव से आई चुनकाई कहत है कि मैं दस बजे से बैक मा बइठे इंतजार करत हौं कि मोर रूपिया निकर आवै। काहे से या समय शादी विवाह का महौल है। रिश्तेदारिन मा जाय का परत है, तौ लड़का बच्चन का कपड़ा उन्हा खरीदै अउर खर्च का होई जाय। चिल्ला बैंक मैनेजर मनीष मिश्रा कहिस कि कम्प्यूटर मा नेटवर्क के परेशानी है। यहिसे समय से रूपिया नहीं निकर पावत आय। जनता तौ आके बाहर बइठ जात है। हमार यहिमा कउनौ गलती निहाय।