बेकार चीजों से कैसे काम की चीजें बनाएं? जानते हैं ललितपुर जिले की प्रीती से

फूल नकली को या असली, वो घर की शोभा बढ़ाने में कोई कमी नहीं छोड़ते। असली फूल फिर भी मुरझा जाते हैं लेकिन नकली फूल लम्बे समय तक घर को सजाये रखते हैं। ऐसे ही एक हुनर की मल्लिका हैं ललितपुर की प्रीति।
ललितपुर जिले के कुम्हैड़ी गाँव की प्रीति के हाथों में नकली फूल बनाने का हुनर छुपा है। लगभग पूरे साल भर इस तरह के फूल आप देख पाएंगे क्योंकि इनके होने के लिए किसी खास मौसम की जरूरत नहीं पड़ती है।
अपने हुनर के बारे में बताते हुए प्रीति कहती है, वैसे तो इसे किसी भी मौसम में बना सकते हैं लेकिन मैं गर्मियों की छुट्टियों में ये काम करती हूँ क्योंकि सर्दियों में और बाकी समय में स्कूल जाती हूँ।
ये फूल कागज की दफ्ती और बेकार कपड़ों से बनाये जाते हैं। इन फूलों के आलावा प्रीति झालर और पैर पौंछने वाले पायदान भी बना लेती हैं।
प्रीति कहती हैं, अगर किसी को अच्छा लगेगा और वो बनाने को कहेगा तो मैं उसके लिए भी जरुर बनाउंगी।

रिपोर्टर- राजकुमारी

Published on Mar 21, 2018