बूंद-बूंद पानी के लिए तरसता बुंदेलखंड लेकिन यहाँ हो रही पानी की बर्वादी जानने के लिए देखिये वीडियो

कमालपुरा नहर का पानी बर्बाद हो रहा है क्यों कि जगह  जगह से  नहर  टूटने से सब जगह पानी भरा है यहां के किसानों को सींचने के लिए पानी नहीं मिल रहा है नहर का पानी ऐसे ही बर्बाद हो रहा है यह कहना है जिला  महोबा के कमालपुरा लोगों का।
किसान सुरेश ने बताया कि नहर टूटनें से पानी भरा हैं  इतने पानी से बहुत सारे खेतों की सिंचाई हो सकती थी। ऋतूराज ने बताया कि खेतों में पानी भरने के कारण सौ एकड़ खेत में बुआई नहीं हो पा रही है। नहर से गरीब लोगों को पानी नहीं मिल रहा है जो दबंग है उनको पानी मिल रहा है। श्यामभूषण का कहना है नहरों की मरम्मत खाना पूर्ति के लिए होती है प्रशासन कोई  ध्यान नहीं देता है सरकार का पैसा दुरुपयोग होता है।टूटी नहरों का पानी खेतों में भर जाता है जिससे फसल बर्बाद होती है। देवेन्द्र सिंह राजपूत  का कहना है कि किसानों ने मांग की थी तब नहर खोली गई थी किन्तु सिंचाई विभाग वालों ने नहर की मरम्मत नहीं कराई है। जिससे नहर का पानी बर्बाद होरहा है। सूखे की स्थिति है इस कारण किसानों को जहां से पानी मिलता वहां तक जाना पड़ता है। सिंचाई विभाग के अधिशासीअभियंता डी.वी.सिंह का कहना है कि पानी बहुत कीमती है इस समस्या का एक दो दिन में हल निकाला  जाएगा।
रिपोर्टर-श्यामकली 

Published on Nov 17, 2017