बुंदेलखंड ही नहीं, बाहर भी होता है सूखा, पढ़िए दक्षिण अफ्रीका की ये ख़बर

साभार: विकिपीडिया

दक्षिण अफ्रीका का शहर केपटाउन पिछले तीन वर्षों से लगातार भंयकर जल संकट से जूझ रहा है। अब वह दिन दूर नहीं जब करीब 40 लाख की आबादी वाले इस शहर का पानी पूरी तरह से खत्म हो जाएगा।
लोग इस दिन कोडे जीरोकह रहे हैं। डे जीरो यानी जिस दिन पानी मिलना बिल्कुल बंद हो जाएगा। विशेषज्ञों का कहना है कि इसी वर्ष अप्रैल तक अफ्रीका का यह शहर पूरी तरह से सूख जायेगा।
दक्षिण अफ्रीका के इस शहर में पिछले तीन साल से पानी के लिए हाहाकार मचा हुआ है। यहां हर साल औसतन 508 मिलीलीटर बारिश दर्ज होती थी जो पिछले तीन साल में सिर्फ 153, 221 और 327 मिमी ही रह गयी है।
डे जीरोको देखते हुए सरकार ने नहाने और शौचालय में टंकी के पानी का उपयोग करने पर रोक लगा दी है। सरकार की कैपटाउन में 75% घरों की पानी सप्लाई काटने की योजना है जिससे 10 लाख से ज्यादा घरों को पानी मिलना बंद हो जाएगा।
यहाँ हालत इतने बदतर हैं कि अब नालियों के पानी को भी दोबारा साफ़ कर इस्तेमाल करने की कोशिशें की जा रही है।