बुंदेलखंड को अलग राज्य घोषित किए जाने की मांग को लेकर 250 लोगों ने सिर मुंडवाया

उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में विभाजित बुंदेलखंड को अलग राज्य घोषित किए जाने की मांग को लेकर पिछले 46 दिन से महोबा जिला मुख्यालय में भूख हड़ताल पर बैठे बुंदेली समाज संगठन के समर्थन में ढाई सौ लोगों ने अपने सिर का मुंडन करवाया।

मुंडन कराने वाले लोगों ने केन्द्र और राज्य सरकारों पर वादा खिलाफी का आरोप लगाया।

बुंदेली समाज संगठन के संयोजक तारा पाटकर ने बताया कि उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में विभाजित बुंदेलखंड को पृथक राज्य घोषित किए जाने के लिए पिछले 46 दिन से भूख हड़ताल की जा रही है।  

संगठन का आरोप है कि भाजपा नीत केन्द्र व दोनों प्रदेशों की राज्य सरकारें अपने चुनावी वादों से मुकर गई हैं।

पाटकर ने कहा कि जब तक झारखंड, उत्तराखंड, तेलंगाना और छत्तीसगढ़ की तरह बुंदेलखंड को अलग राज्य घोषित नहीं किया जाता, तब तक बुंदेलखंड़ के किसान, मजदूर और कामगारों को ‘कर्ज’ और ‘मर्ज’ की बीमारी से मुक्ति नहीं मिलेगी।

पाटकर ने बताया कि कल पृथक बुंदेलखंड राज्य की मांग के समर्थन में आल्हा चैक के पास डॉ आम्बेडकर पार्क में 250 समर्थकों ने अपने सिर का मुंडन करवा कर बाल दान किए हैं। इस काम के लिए दस नाई लगाए गए जो तीन घंटों में ढाई सौ समर्थकों का मुंड़न कर पाए।

बुंदेलखंड को अलग राज्य यह भी देखें:

बुंदेलखंड को एक अलग राज्य करने की मांग को लेकर महोबा की बुन्देली सेना का अनशन | फेसबुक लाइव

बुंदेलखंड के अलग राज्य की मांग देखिए कविता के साथ | द कविता शो

Alag Rajya ki Maang