बीस साल से नहीं हुई तालाब की सफाई, गन्दा पानी पीने को मजबूर लोग

जिला चित्रकूट, ब्लाक रामनगर, गांव बांधी हिंया के मड़इन का कहब हवै कि सबै हैन्डपम्प ख़राब हवै अउर कुंआ सूख गे हवै यहै कारन  गांव के मड़ई तालाब का पानी पियें का मजबूर हवैं।अउर तालाब का पानी नहायें मा कपड़ा धोवें मा अउर जानवरन खातिर इस्तेमाल करित हन। कामता शुक्ला बताइस कि तालाब लगभग बीस–पच्चीस विघा मा बना हवै पै दसन साल से सफाई नहीं भे आय। हजारन दरकी प्रधान अउर बीडीओ देख के चले गें हवैं पै तालाब के सफाई कोउ नहीं करावत आय। राजकुमारी बताइस कि तालाब का पानी बहुतै गंदा हवै यहिमा नहाये से जुखाम, खुजली होइ जात हवै  जोंक के डेर भी बनी रहत हवै। छोट–छोट बच्चा नहात हवै तौ तालाब मा डूब जात हवैं। तालाब मा अबै तक कइयौ मड़इन के मउत होइ चुकी हवै। प्रधान प्रतिनिधि कृपा शंकर पाण्डेय का कहब हवै कि तालाब मा अबै पानी भरा हवै जबै सूख जई तबै काम होइ।
बीडीओ शेर बहादुर बताइस कि बहुतै बड़ा तालाब हवै जबै सूख जई तबहिने सफाई का काम शुरू होइ। प्रशासन तालाब सूखे का इन्तजार करत हवै अउर मड़ई इन्तजार करत हवै साफ़ पानी का?

बाईलाइन-सहोद्रा
Published on Nov 6, 2017