बीकानेर की सैर

बीकानेर। रेगिस्तानों वाले गर्मागर्म राज्य राजस्थान में है बीकानेर शहर। राजधानी जयपुर से लगभग चार सौ किलोमीटर दूर, बीकानेर राजस्थान के रंगों और खान-पान का परिचायक है। खबर लहरिया के कुछ पत्रकार जो बीकानेर पहुंचे, वहां से लाए दो यादगार अनुभव।

Mano - Bikanaer Junagarhजूनागढ़ किला

पांच सौ साल पुराना ये किला बीकानेर शहर की स्थापना करने वाले राव बीका ने बनवाया था। मई की गर्मी में लाल बलुआ पत्थर से बने इस विशाल किले के सारे माले घूमते-घूमते अच्छे अच्छों के पसीने छूट जाएं। किले के अंदर बहुत से महल और मंदिर हैं। सबसे खास है किले के हर कमरे की खूबसूरत रंग-बिरंगी दीवारें और ज़मीन।

                                                                                                                                                                                                   माता करणी का मंदिर

बीकानेर शहर से तीस किलोमीटर दूर है देशनोक। यहां दूर दूर से लोग माता करणी के मंदिर आते हैं हज़ारों चूहों के बीच एक सफेद चूहे को ढूंढने। छह सौ साल पुराने इस मंदिर में भगवान के दर्शन हों ना हों, सबसे ज़रूरी है चूहों से भेंट। कहते हैं कि अगर सफेद चूहा दिख जाए तो आपका कोई बड़ा काम पूरा हो जाएगा।