बिना वेतन करई छी काम

Photo-0186Photo-0186
जिला शिवहर के महिला हेल्प लाईन संस्था के पूरे कर्मी के मानदेय न मिल रहल हई। जेई कारण ऐई विभाग के कर्मी के काम करे केे लेल परेशानी उठावे के पड़ रहल हई।
ऐई विभाग के वकिल रानी गुप्ता कहलथिन कि हम ऐई में तीन साल से काम करई छी। एक सप्ताह में दु दिन डियुटी करई छी। पन्द्रह सौ रूपईया मानदेय के रूप में कहल गेल हई। जेइमें हमरा अभी चार पांच हजार रूपईया एक बेर मिलल रहे। हमर त नजदिक में घर हई त कोनो बात न हई। लेकिन अउर कर्मी सब दूर से अवई छथिन त ओई लोग के ज्यादा दिक्कत होई छईं। अभी तक महिला हेल्फ लाइन से सत्तर अस्सी केश सुलझायल गेलईह।
प्रभारी अजय कुमार वर्मा ’भास्कर’ कहलथिन कि अप्रैल 2010 मे ही इ संस्था खुललई। मात्र हमरा तीन लाख बीस हजार रूपईया मिलल। ओतना रूपईया से कथी होतई। फिल्ड में भी हमरा सब के जाये में खर्च लगई छई। हमरा भी पता हई कि लोग के केतना खर्च होई छई। हमत अपन चैदह लाख रूपईया कर्ज लेके लगा देली। लेकिन अभी तक रूपईया जिला से न मिल रहल हय। हर महिना के बील भाउचर जिंला में तीन जगह देबे के पड़ई छई। जब रूपईया के मांग करई छी त कहई जाई छथिन कि बिल देखके जांच करब ओकरा बाद देल जतई। जिला प्रशासन कहलथिन कि ऐई के लेल 30 अप्रैल 2013 के बैठक रखल जतई।