बिना बिजली चलत अस्पताल

शाम होतै अंधेरे मा डूब जात अस्पताल
शाम होतै अंधेरे मा डूब जात अस्पताल

जिला बांदा, ब्लाक नरैनी, कस्बा कालिंजर। हेंया सन् 2004 से बिना बिजली नवीन प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र चलत है। आज तक स्वास्थ्य विभाग बिजली के व्यवस्था नहीं करवा पाइस आय।
अस्पताल का डाक्टर बी.के. सिंह कहत है कि मैं 2012-13 से या अस्पताल मा डाक्टर के पद मा हौं। जंगल के बीच बना या अस्पताल मरीजन के कउनौ सुविधा लायक निहाय। अगर कउनौ मरीज गम्भीर है अउर भर्ती कर लीन जाय तौ गर्मी मा वा अउर भी बीमार होई जात है। अस्पताल के बाहर ही ढाई किलोवाट का ट्रांस्फारमर भी धरा है। बिजली लगवावैं खातिर सी.एम.ओ. का लिखित भी दीन है।
नरैनी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के अधीक्षक ए.के. सिंह कहत है कि बिजली खातिर रूपिया जमा कई दीन गा है। अबै तक बिजली काहे नहीं लाग यहिका पता लगावा जई। सी.एम.ओ. कैप्टन डाक्टर आर.के. सिंह कहिन कि जुलाई 2014 का बिजली विभाग मा रूपिया जमा कीन है। मैं कोशिश मा हौं कि जेतना जल्दी होई सकै तौ बिजली जल्दी लाग जाय।