बिना बिजली का गांव खम्भा बने सो पीस

taja-kopa--ed-ww हिंया 15 जनवरी का बिजली के खम्भा लाग गे हवै पै बिजली के तार अबै तक नहीं लाग हवै खम्भा मा तार लगवावै खातिर प्रधान शान्ती देवी के मनसवा भोला से 27 जनवरी का कहा गा, पै अबै तक खम्भा मा तार नहीं लाग हवै।
हिंया के मेढिया अउर बुद्व राज का कहब हवैं कि पहिले मडई बांस के बल्ली गाड के अपने घरन मा बिजली का कनेक्शन लीने रहै पै जबै से खम्भा लाग गे हवैं। तबै से बिजली भी नहीं हवै देखै का तौ खम्भा लगा दीन गें पै गांव अंधियारे मा डूब हवै। बिजली न रहै से बच्चन के पढाई नहीं होई पावत काहे से कि होई स्कूल अउर बारह मा पढै वाले बच्चन के परीक्षा का समय हवै दूसर बात मोबाइल चार्ज करवावै सुरौंधा गांव लगभग छह किलो मीटर दूर जाये का परत हवै।
प्रधान शांती देवी के मनसवा भोला का कहब हवै कि खम्भा मा तार लगवावै खातिर
कर्वी बिजली विभाग मा 23 जनवरी का लिखित दरखास दीन गे रहै पै तार नहीं लाग हवै।
कर्वी बिजली विभाग के अधिशाषी अभियंता राजमणि विशकर्मा का कहब हवै कि लिखित मिली रहै। मार्च तक तार लगवाव दीन जई। काहे से कि अबै बजट नहीं आय।