बिना बाउंड्री के स्कूल मा घुसत जानवर

chatrakoot schoolजिला चित्रकूट, ब्लाक रामनगर, गांव करौंदी कला। हिंया प्राथमिक स्कूल के बाउंड्री लगभग पांच महीना से गिरी परी हवै। स्कूल के बाउंड्री बनवावैं खातिर रामनगर बी. आर. सी विभाग मा 16 नवंबर का कहा गा, पै कउनौ ध्यान नहीं दीन गा हवै। स्कूल मा पढ़ै वाले बच्चा समद अउर कैलाश का कहब हवै कि बाउंड्री गिरी होय के कारन स्कूल के भीतर जानवर घुस आवत हवैं। हम लोग जउन पौधा लगाइत हन वा सबै जानवर आ के खा जात हवै। यहिसे हमार मेहनत मा पानी फेर जात हवै। बाउंड्री न होय के कारन हमार पढ़ाई मा भी असर परत हवै।
अगर स्कूल के बाउंड्री बन जाये तौ समस्या से न जूझै का परै। स्कूल के भीतर जानवर घुसै से नीेंक से पढ़ भी नहीं पाइत हन। गांव के मड़ई भी आवत जात हवैं। बाहरी बच्चा भी खेलत हवैं। यहिसे हल्ला खूबै सुनाई देत हवै। यहिसे लागत हवै कि अगर स्कूल के बाउंड्री बन जाये तौ हमार पढ़ाई भी नींकतान से होइ सकत हवै।
कुछ बच्चन के महतारी बाप कहिन कि बाउंड्री न होय से हमरे बच्चन के पढ़ाई का, का होइ। स्कूल के हेडमास्टर मानसिंह का कहब हवै कि स्कूल मा कुल एक सौ इंक्यावन बच्चा हवैं। स्कूल के बाउंड्री बनवावैं खातिर बी.आर.सी.विभाग मा लिखित दें के बादौ बाउंड्री नहीं बनी आय। रामनगर बी. आर. सी. विभाग के समन्वयक अखिलेश कुमार सिंह का कहब हवै कि बाउंड्री बनवावैं खातिर सरकार के लगे प्रस्ताव बना के भेज दीन गा हवै। हंवा से पास होइ तौ स्कूल के बाउंड्री तबहिने बनवाई जा सकत हवै।