बिगरे हैण्डपम्प पानी खे बेहाल जनता

mahoba fजिला महोबा, ब्लाक चरखारी, गांव सबुआ को मजरा कुसरमा। एते के तलइया पुरा मोहल्ला में आदमियन खा पानी कोनऊ सुविधा नइयां। आदमी चार सौ मीटर दूर के हैण्डपम्प से पानी लाउत हे।
हरचरन, मंगल, मलखान ओर अखिलेश बताउत हे की चार सौ मीटर दूर अरबिन्द लोधी के खलिहान में एक हैण्डपम्प लगो हे। ओतई से हम पानी भर के लाउत हे। पानी भरें के लाने एक आदमी ओतई लाइन लगा के बेठने परत हे।
तुलसीदास ओर उमेश कहत हे की पांच साल बीत गये प्रधान ने एकऊ हैण्डपम्प लगवाओ हे ओर कोनऊ विकास को काम भओ हे। पानी बिना बोहतई परेशानी होत हे काय से अगर पिये भर खा होय तो ठाड़ रहो जा सकत हे। पानी जानवरन खा भी लगत हे। सबेरे से नहा के स्कूल बच्चा जात हे। पानी न मिले के कारन बच्चा स्कूल समय से नई पोंहोंच पाउत हे। मोहल्ला को रहें वालो हरचरन बताउत हे की हम गरीब आदमी माटी के बर्तन बना के परिवार चलाउत हे। हमाये पास रुपइया नइयां की हम खुद से हैण्डपम्प लगवा सकन।
एसई गांव सुदामापुरी में लोग एक किलोमीटर दूर स्टैंण्ड से पानी लाउत हे। बल्ली, भोलाराम ओर मइयादीन कहत हे की स्कूल के एते लगो हतो जोन दो महिना से खराब परो हे। हम लोग बूंद-बूंद पानी खा भटकत हे। ओत दुकान भी धरी हे जीसे आदमी दिन भर बेठो रहत हतो। जभे से हैण्डपम्प खा हो गओ तो कोनऊ नई आउत हें। दुकान बन्द रहत हें कोनऊ नई आउत हे। मुन्नीलाल, छत्रपाल ओर सराफीलाल कहत हें की हमने प्रधान से केऊ दइयां कहो हे। ऊ नई सुनत हे। हमने तहसील दिवस में भी दरखास दई हे।
सुदामापुरी को प्रधान तेजसिंह यादव कहत हे की ऊ हैण्डपम्प के बारे में मोये कोनऊ जानकारी नइयां। अब भई हे तो बनवा दओ जेहे।