बाराबंकी जिले में आई आँचल जादूगरनी

जिला बाराबंकी, ब्लाक हैदरगढ़ मा उदय पुर से आई आँचल जादूगरनी 18 नवम्बर 2016 से 1 जनवरी 2017 तक आपन कमाल देखाइन। आँचल कै जन्म 22 फरवरी 1993 का उदय पुर राजस्थान मा भा रहा।
जादूगरनी आँचल कै कहब बाय कि हम बहुत कम उम्र मा जादू सीखे हई। चार साल के उमर मा ही हम स्टेज पै जादू देखायन। हमार पहला स्टेज शो 1997 मा रहा। आँचल बताइन कि हमरे पापा का जादू कै बहुत सौक रहा। पर वै स्टेज पै शो नाय करत रहें। हम उनके साथ-साथ रहत रहेन। अउर धीरे-धीरे सीख गयन जादू कै शौक होइगै। अउर हम हर देश वासी का बेटी बचाओ बेटी पढाओ, दहेज़ का लेके मेहरारुन कै हत्या के प्रति जादू के माध्यम से सीख दिये चाहत हई।
आँचल के माता-पिता कै कहब बाय कि हमै लड़का लड़की मा कौनौ भेद भाव नाय करै का चाही। येही वजह बाय कि आँचल एतना आगे आय पाए अहैं। आँचल 2014 मा पी जी कम्प्लीट करिन। अउर अपने कालेज कै गोल्ड मेडलिस्ट रह चुकी अहैं। आँचल के साथ उनकै एक छोटा भाई गुरु भी बाटे। जवन बारहवी क्लास मा पढ़ा थे। आंचल अब तक सोलह राज्य मा जादू देखाय चुकी अहैं। भारत के तीन देश चाइना, साऊथ कोरिया अउर बंगोरिया भी जाय चुकी अहैं।
यू पी मा पहली बार आई आंचल का लखनऊ कै महान जादूगर एम् एल रिजवी जादू देखै के बाद सम्मानित करिन। आंचल कै कहब बाय कि हमै कठिनाई से मुंह नाय मोड़े का चाही।

रिपोर्टर- नसरीन और फिज़ा

06/01/2017 को प्रकाशित