चिड़िया नहीं, लड़का है! सुनिए और देखिये बाराबंकी जिले का अजूबा, सोनू!

गांव कोलवा, जिला बाराबंकी के रहने वाले 13 साल के सोनू कई तरह के पक्षियों की आवाज़ निकाल लेते हैं, यह उनका हुनर है जिसके लिए उन्हें उनके गांव में सभी अच्छे से पहचानते हैं।
सोनू कोयल, गौरैया, कौंवा, बकरी आदि की आवाज़ हू-ब-हू निकालते हैं। यदि कोई उन्हें न देख पाए तो यह कहना मुश्किल होगा कि यह आवाजें सोनू अपने गले से निकाल रहे हैं।
उनकी माँ गीता बताती हैं, मेरा एक ही लड़का है और यही थोड़ा बहुत कमा लेता है। लोग नाटक-नौटंकी में इसे ले जाते हैं वहीँ यह इस तरह की आवाज़े निकाल कर थोड़ा बहुत कमा लेता है।
अपने इस जन्मजात हुनर के बाद भी सोनू इसका प्रयोग अपने आप को निखारने में नहीं कर सकते क्योंकि सोनू को बचपन से मिर्गी का रोग है।
उनकी दादी रामरती कहती हैं, इसे मिर्गी का रोग है नहीं तो ये काम तो खूब कर लें। सोनू को दिन में 7 से 10 बार मिर्गी के दौरे पड़ते हैं। कभी-कभी तो उसके मुंह से खून भी आ जाता है। हमने इसका इलाज भी कराया है लेकिन गरीब हैं ज्यादा समय तक दवा नहीं चला सकते।

रिपोर्टर- नसरीन 

Published on Apr 7, 2017