बाढ़ लेलकई कतेक के जान

मुसलाधार बारिस होये के बाद उत्तर बिहार के कईक जिला में नदी के बांध टूटे से पानी के कहर लगभग दो तीन दिन से जारी रहलई। जेई कारण लोग सब के यातायात भी बाधित हो गेलई। ऐई पानी के बहाव में लोग भी दह गेलई।
सीतामढ़ी जिला में भी डूबे से तीन लोग के मौत हो गेलई। सुरसण्ड प्रखण्ड के श्री खण्डी, भिठा गांव के नजदीक रातो नदी के बांध पच्चास फिट में टूटे से ओई इलाका के कईक गांव पानी के तबाही से लोग में कोहराम मच गेलई। सिंगरहिया सोनबरसा नदी के भी पानी उहां के लोग के लेल जान लेवा बन जाई छई। कयला कि ऐई इलाका सब में नेपाल के पानी अबई छई। शिवहर जिला में भी बाढ़ के पानी से परसौनी में मोटर साईकिल पर सवार दु गो आदमी दह गेलथिन। जेईमें से एगो आदमी ओई पानी में मोटरसाईकिल सकित डुब गेलथिन। जे दु दिन के बाद दोसर गांव में नदी किराने मिलल। उ मर गेलथिन। जे सुन के उहां सनसनी फैल गेलई। शिवहर जिला के प्रशासन उहां से उठवा के पोस्टमाॅर्टम के लेल लेगेलथिन। लेकिन दुनु जिला के जिला अधिकारी बाढ़ से सावधानी रखे के लेल पहिले से ही बैठक कयले रहथिन कि कहां-कहां बांध टूटे वाला हई। ओई सब में मरम्मती अउर व्यवस्था करवा देले छथिन। लेकिन इ आपदा त प्राकृतिक ईश्वरीय देन हई। एक त समय से बारिस न भेलई, बारिस होयबो कलई त सब किसान के रोपल खेत भी पानी से डूब गेलई। कतेक के घर में गांव में पानी घुस गेलई अउर कईक लोग के मौत भी हो गेलई। एई बाढ़ के पानी से बिहार के लगभग सात, आठ जिला के लोग के तबाही बढ़ल हई।