बाढ़ के बाद राहत में देरी

road uttarkhanउत्तराखंड। उत्तराखंड बाढ़ के असर से अब भी जूझ रहा है। दो हफ्ते होने के बाद भी राहत नहीं मिल पा रही है। रुद्रप्रयाग जिला सबसे ज्यादा प्रभावित इलाकों में से है। एक तरफ सड़कों की हालत इतनी बुरी है कि पहुंचना बहुत मुश्किल हो गया है और दूसरी तरफ अगर सामान कुछ पंचायत घरों तक पहुँच गया भी है तो परिवारों को मिलना अभी भी बाकि है।
पिछले कुछ सालों में विकास के नाम पर जो विस्फोट सड़क बनाने के लिए किए गए हैं उन्होंने पहाड़ों की नींव को हिला कर रख दिया है। अब तेज़ बारिश में इन चट्टानों से मिट्टी गिर कर सड़कों में आकर जमा हो जाती है जो आना जाना मुश्किल कर देती है। कच्ची सड़के बह गई हैं। लोगों को कई किलोमीटर चल कर सबसे पास की सड़क तक पहुंच कर अनाज लेना पड़ रहा है। जहां सड़क से पहुंचाने का कोई चारा नहीं है वहां सरकार हवाई जहाज़ से अनाज गिरा रही है।