बांदा में बदायूं जैसा कांड, क्या होगा इस केस का? क्या लड़की को मिलेगा न्याय?

बदायूं जिला के कटरा गांव का नाम याद है? 2014 मा हेंया दुई बहिनिन साथै बलात्कार भा रहै। या घटना राष्ट्रीय अउर अंतर्राष्ट्रीय खबर के रूप मा फइली रहै। दूनौ लड़की शौच खातिर गई रहैं तबै या घटना भे रहै। बदायूं हेंया से दूरी है पै महुई गांव तौ बांदा जिला के तिंदवारी ब्लाक मा है। हेंया 15 नवम्बर का एक लड़की शौच खातिर गे रहै तबै वहिके साथै छेड़खानी अउर बलात्कार के कोशिश कीन गे है। जबै लड़की चिल्लान तौ आस-पास मड़ई आ के बचा लिहिन। या घटना के तिंदवारी थाना मा रपट लिखाई गे है।लड़की बताइस कि शाम के शौच खातिर गई रहिव तबै बाइक वाला लड़का मोहिका देख के पकड़ें आवा तौ मैं भाग गइंव हुंवा मड़ई रहै तौ मैं बच गइंव तबहूं वा मोर हाथ मुरेर के मोबाइल लइ लिहिस फेर मोहिका मारिस अउर गाली देत भाग गा।
प्रधान मलखे श्रीवास्तव का कहब है कि थाना मा तहरीर दइ दीन गे है पै अपराधी अबै तक पकड़ा नहीं गा आय पुलिस जांच खातिर आई रहै जबै पुलिस चली गे है तौ अपराधी गंदी–गंदी गाली अउर धमकी देत है यहिके पहिले भी मोर भाई का मार डालिन रहै। जाति के कारन इनतान के घटना होत है। काहे से लकड़ी दलित अउर लड़का ठाकुर आय।
बदायूं मामला मा भी जांच भे रहै पै या कहिके के अपराधी का छोड़ दीन गा रहै कि बलात्कार नहीं भा आय।  बांदा के महुई मा का होइ? का शौच जात दरकी छेड़खानी अउर बलात्कार के घटना रुकिहैं?

बाईलाइन-शिवदेवी

23/11/2017 को प्रकाशित