बांदा में नेता की हत्या

घर में छाया मातम - परिवार वालों ने बताया कि पिछले साल भी हत्या करने की कोशिश की गई थी।
घर में छाया मातम – परिवार वालों ने बताया कि पिछले साल भी हत्या करने की कोशिश की गई थी।

जिला बांदा। यहां पर 12 अगस्त को मटौंध नगर सपा अध्यक्ष बादल खां और उसके मुनीम पंकज शुक्ला को तीन लोगों ने चैराहे में गोलियों से भून डाला।
ब्लाक बड़ोखर खुर्द गांव मटौंध। गांव के फूलचन्द्र, सद्दाम हुसैन और मनोज ने बताया कि बादल खां मटांैध का सपा पार्टी का नगर अध्यक्ष था। उन्होंने आरोप लगाया कि जितेन्द्र सिंह उर्फ लल्ला से बादल खां की कई सालों से दुश्मनी चल रही थी। 12 अगस्त को बादल बांदा अपने काम से गया था। उस दिन न तो उसके साथ कोई गनर था न ही कोई हथियार। शाम 7 बजे घर जाते समय क्योटरा चैराहे में स्कारपियो का पहिया एक गड्ढा में घुसा तो स्कारपियो थोड़ा रूकी और पीछे से आए बाइक सवारों ने गोलियां चलानी शुरू कर दीं। परिवार वालों ने बताया कई बार डी. एम., एस. पी. और डी. आई. जी. से सुरक्षा की मांग की थी पर किसी ने नहीं सुनी। उन्होंने जितेन्द्र सिंह पुत्र बरदानी सिंह क्योटरा, छोटे खां पुत्र उस्मान खां मटौंध और अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट लिखकर न्याय की मांग की है। एस.पी. अमित वर्मा कहते हैं कि मटौंध सपा नेता और जितेन्द्र के बीच व्यावसायिक विवाद था। इसलिए दो व्यक्ति जितेन्द्र और छोटू के नाम रिर्पोट है और दो अज्ञात में हैं।