बांदा जिले में राहत राशि के लिए जमीनदार और बटाईदार के बीच बढ़ा तनाव

12 फरवरी का पानी के साथै ओला गिरे रहै। जेहिसे बांदा, चित्रकूट, महोबा, हमीरपुर, जालौन, झांसी अउर ललितपुर मा फसल का बहुतै नुकसान भा है। दस मिनट ओला गिरे से दस अर्ब रुपिया के फसल खराब होइगें हैं।या नुकसान कण रुपिया पावै खातिर बांदा जिला, ब्लाक नरैनी, गांव हस्तम के किसान बहुतै परेशान है। ई पेमेंट से रुपिया मिले के कारन जमीन वाले अउर बटाई वालेन के बीच समझौता नहीं होई पावत आय।
गिरजा बताइस कि लाही अउर गेंहू की पांच बीघा फसल का नुकसान भा है। यहै खातिर हम अधिकारिन के चक्कर लगाइत है। पूर फसल बर्बाद होइगें है तौ बच्चा अउर जानवरन का खइहैं ? सोम प्रकाश का कहब है कि लेखपाल सर्वे कइ गें है, सूची भी तैयार होइगें है, पै किसान अउर बटाई वालेन के बीच कउनौ समझौता नहीं होत आय। लुगरू बताइस कि गेंहू, चना, मसूर सबै फसल का नुकसान भा है पै लेखपाल कहत है कि कम नुकसान भा है। जगदीश का कहब है कि हम बटाई से खेती करित है तौ हमें कुछौ नहीं मिला आय।
अतर्रा एसडीएम प्रहलाद सिंह का कहब है कि हमार तहसील मा छत्तीस गांव है जेहिमा से आठ गांव के मड़इन का फसल के नुकसान का रुपिया उनके खाता मा भेज दीन गा है।

रिपोर्टर- सुनीता

Published on Mar 9, 2018