बांदा जिले में घरेलू हिंसा की वजह सुनकर चिढ़ जायेंगे आप

बांदा जिला के ब्लाक तिंदवारी के गोखरही गांव मा एक घरेलू हिंसा के घटना भे है। नीलू नाम का एक मड़ई आपन मेहरिया आरती का बुरी तरीके से मारिस है।

शिकायतकर्ता आरती बताइस है कि इं निशान डंडा के मार के आय। जउन बाँध के मारिस है। मोर मड़ई का कहब है कि अगर काम न करिहैं, तौ मैं तोर जान लई लेहूं। पांच हजार रुपिया चाहीं नहीं, तौ मैं तोहिका मारके जेहले चला जइहौं।

ससुर रामचन्द्र का कहब है कि वहिका मनसवा वहिका मार दिहिस है, तौ वहिका बाप लेवा गा है। वहिके भीतर सफाई नाम के चीज नहीं आय। सगले हार से आके सब छुई लेत है। व आपन दिमाग से काम करत है, कउनौ सुनतै नहीं आय।

बाप लालमन बताइस है कि मोर लड़की मोहिका फोन किहिस है कि मोहिका हिंया से लेवा जा। हिंया मोहिका बाँध के पानी ड़ार-ड़ारके मारिस है। मैं कहे हौं कि कल सूरज निकरै के पहिले मैं आ जइहौं, तौ लेवा लइहौं, तौ फेर लेवा के तिंदवारी थाना मा आय हौं।

पति नीलू का कहब है कि कबहूँ कहा जाय कि आटा लाइके रोटी बना दे तबहिन काम करत है। कउनौ काम आपन से नहीं कर सकत आय। कुछ खाय का होय, तौ जबै बतावै तबै तौ व बनावत है या फेर आपन से बना के खाओ। बस सब्जी रोटी भर बना के रख देत है। अगर कहीं देव कि आज बेढनी बना दे, तौ वहिका बतावै का पड़त है। नहीं तौ कुछौ नहीं बना सकत आय। इधर बोलावै तौउधर का जात है। वहिके दिमाग नाम के चीज नहीं आय।

तिंदवारी थाने के मुंशी विनोद कुमार के अनुसार नीलू के खिलाफ आईपीसी के तहत 506, 504, 323 धारा लगा के केस लिख दीन गा है।

रिपोर्टर: शिवदेवी

Published on May 17, 2018