“पैसे खिलाओ, कार्ड बनाओ”, बांदा जिले के खैरी गांव निवासियों का आरोप

बाँदा जिले के जसपुरा ब्लॉक के गाँव खैरी के लोग राशन मिलने के कारण परेशान हैं। सभी कार्य ऑनलाइन होने के बाद से ग्रामीण लोगों को अधिक समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।
जब कहीं कोई सुनवाई नहीं हुई तब गाँववासी अपनी समस्या को लेकर तहसील दिवस के दिन तहसील पहुंचे।
गाँवनिवासी राम सेवक ने बताया कि हमारे पहले के राशनकार्ड रद्द कर दिए गये। उसके बाद नये राशन कार्ड के लिए भटक रहे हैं। मैंने दो महीनें पहले ही राशन कार्ड के लिए ऑनलाइन आवेदन ले लिया था और इसकी पर्ची भी मेरे पास है लेकिन अभी तक राशन कार्ड नहीं बना है।
गाँवनिवासी जनक ने बताया कि मैं पिछली तीन प्रधानी से भटक रही हूँ लेकिन अभी तक मेरा राशन कार्ड नहीं बना है। पहले बना और अब। मैंने एक बार ऑनलाइन भी करा लिया लेकिन कार्ड हाथ नहीं आया है। ऑनलाइन करने के लिए भी सौडेढ़ सौ रूपये ले लिए जाते हैं लेकिन काम एक नहीं होता।
गाँव वालों का आरोप है कि कोटेदार उनका हक़ मार रहा है और प्रधान इस तरफ ध्यान नहीं देता है।
इस बारे में तहसीलदार धीरेन्द्र कुमार का कहना था कि हम जाँच करेंगे, कोटेदार और इस धांधली में शामिल लोगों को पकड़ा जायेगा और कार्यवाही की जाएगी।

रिपोर्टर- शिवदेवी 

Published on Jan 8, 2018