बांदा के न्यूज़ ऐंकर सौम्या के सपने बड़े और बुलंद!

जिला बांदा, क़स्बा बांदा हम रोज मेहरिया हिंसा बलात्कार प्रशासन अउर भ्रष्टाचार के हजारों खबर लिखित हैं पै कत्तौ कत्तौ कुछ नींक खबर भी मिल जात है।
टी. वी, चैनल मा पत्रकारिता का काम करे वाली 23 साल के सौम्या श्री वास्तव का कहब है कि बांदा पिछड़ा इलाका आय हेंया के मड़ई चाहत है कि लड़की टीचर का काम करै पत्रकार जइसे खुले क्षेत्र का काम न करै। पै मोर बाप महतारी मोरे ऊपर विश्वास कइके मोहिका आगे बढ़ाइन हैं।
बचपन से मैं कुछ अलग करे चाहत रहिहौं यहै कारन स्कूल के कार्यक्रम मा एक्टिंग करत रहिहौं बचपन से चाहत रहिहौं कि इनतान का काम करौं जउन सब कोउ नहीं कइ पावत आय। इंटर पास करे के बाद में टीचर का काम करे हो वहिके बाद 2011 से मैं टी. वी. पत्रकार का काम करेहौं। बांदा जइसे क्षेत्र मा जबै लड़की पत्रकार का काम करत हैं तौ समाज के मड़ई कइयौतान के बात करत हैं कहत है कि बाहर न भेजो भविष्य मा का होइ नींक बात न होय। तबै परिवार खातिर या चुनौती का काम रहै पै मोर परिवार मोरे ऊपर विश्वास कइके मोर साथ दिहिन हैं।
आज पूर बांदा मा मड़ई मोर काम अउर चेहरा से मोहिका पहिचानत हैं तो मोर परिवार वालेन का बहुतै खुशी होत है कि येत्ती छोट उमर मा मोर येत्ता नाम है। मैं चाहत हौं पत्रकारिता के क्षेत्र मा मोर चेहरा अउर ज्यादा पहिचाना जाये अउर आपन विचार सगले पहुंचा सकौं।

रिपोर्टर- मीरा देवी

31/05/2017 को प्रकाशित