बाँदा जिले में भाई ने संपत्ति के लिए अपनी बहन की कुल्हाड़ी से गला काटकर की हत्या

30 मई का भाई के द्वारा आपन विकलांग बहनी मीना के सम्पत्ति के खातिर गला काट के हत्या का मामला सउहें आवा है। या घटना बांदा जिला के किलेदार पुरवा का आय। या घटना बांदा जिला का हला के रख दिहिस है।

भाई अनिलकुमार बताइस है कि मैं कर्वी मा रहे हौ। मोहिका फोन कीन गा तबे पता चला है, कि या घटना घट गे है। मैं हिंया नहीं रहत आहू। मैं चमरौड़ी मा रहत हौं। कउनौ से कुछ दुश्मनी नहीं रही आय। जबे से या घर बना तबे से बहनी अकेले रहत रही है। मैं थाने मा अज्ञात के नाम अप्लिकेशन दीन्हें हौं। पड़ोसी मोतीलाल का कहब है कि काल रात के 8 बजे तक काम चला है, वहिके बाद पता नहीं का भा है? ना कउनौ आवाज आई अउर ना ही कउनौ लड़ाई झगड़ा भा आय। सुबेरे पता चला, जबै मिस्त्री अउर कारीगर आये हैं। पड़ोसी सुमन बताइस है कि वहिके दूनौ बहुत सीध हैं। एक पागल-पागल है, जउन दिन भर घूमत रहत है। एक है वहे सब किहिस है काहे से वहिका सबेरे फोन लगावत रहे हैं तौ वहिका फोन बंद बतावत रहै। हमै तौ वहिके ऊपर पूरा शक है। मीना का पहिले बलात्कार कीन गा है फेर बाद मा मारा गा। कहे से वा आधे कपड़ा पहिने रही है, आधे नहीं। एसपी बांदा शालिनी सिंह का कहब है कि कल रात एक युवती के घर में डेड बाड़ी मिली है। जेहिके कुल्हाड़ी मार के हत्या कीन गे है। विवेचना मा पता चला है कि मीना के महतारी आपन जिंदा रहत आपन दूनौ लड़कन का ना तौ पेंशन का एक रुपिया दिहिस अउर ना ही जमीन मा हिस्सा दिहिस आय। अब जउन प्रापर्टी के मालिक मीना रहै, जेहिके चलत वहिके बड़ा भाई जमीन का लइके बहुत परेशान रहत रहै कि या विकलांग बहनी पूरी जमीन मा आपन अधिकार जमाए बैइठ है। यहिके छह महीना पहिले जमीन का लइके कुछ कहासुनी भे रहै। यहै कारन वा भाई परसों के रात घर मा मीना के मारै के प्लान से घुसा है। ललितकुमार आपन दोस्त कमलेश के साथै घर मा घुसा, तौ मीना जाग गे। वहिठा पड़ी कुल्हाड़ी उठा के ललितकुमार उर्फ़ कल्लू नाम का वहिके ऊपर वार कई दिहिस है। जेहिके कारन दरें मा मीना के मउत होइगे है।  

रिपोर्टर: गीता

Published on Jun 1, 2018