बाँदा जिले में बाढ़ के बाद डायरिया मलेरिया और टायफाइड का प्रकोप..

जिला बांदा, शहर बांदा जिला अस्पताल मा लगभग साथ से पचास मरीज डायरिया, मलेरिया अउर टाइफाइड के भर्ती होत हैं,पै उंई मरीजन खातिर अगर कउनौ का खून के कमी है तौ खून नहीं मिलत है। यहिसे अस्पताल के मरीजन का समस्यन का सामना करैं का परत है।
अस्पताल से दवाई लें खातिर आवै वाली कल्ली का कहब है कि मोहिका बुखार आवत है। खून के कमी है। अस्पताल मा देखाये हौं तौ बाहर से खांसी के एक शीशी लिखिन अउर दवाई दिहिन हैं। खून खातिर कहत रहैं कि खून नहीं आय।
श्यामा कहिस कि मूड़ गोड़, छाती अउर पेट मा पीरा रहत है। अस्पताल मा दुई दिन से भर्ती हौं। दवाई खात हौं, पै नीक नहीं होत है।
अजय लाल का कहब है कि चार दिन से बुखार आवत है अउर खून के कमी है। अस्पताल के डाक्टर नींक से इलाज नहीं करत आय। यहिसे अब हेंया से जा के प्राइवेट डाक्टर का देखइहौं।
मुख्य चिकित्सा अधीक्षक किशोरी लाल कहिन कि अगर अस्पताल मा खून है तौ दीन जात है। नही है तौ का कीन जा सकत है।

रिपोर्टर- गीता 

 

30/08/2016 को प्रकाशित