बाँदा जिले के हर गाँव के लोग राशनकार्ड को लेकर परेशान

जिला बांदा, कस्बा बांदा हेंया अशोक लाट चौराहा मा गांव के मड़ई राशन कार्ड खातिर धरना प्रदर्शन करिन हैं। काहे में आंनलाइन होय के बाद भी मड़इन का राशनकार्ड नही बना आय।
राशनकार्ड खातिर मड़ई सौ से दुइ सौ रुपिया तक खर्चा भी करिन है तबहुं राशनकार्ड नहीं बनत आय। माया का कहब है कि मिटटी का तेल मिलत आय, न गल्ला मिलत आय। मोल खरीद के खाय का पड़त हैं।कइयौ दरकी प्रधान से अउर तहसील मा कहे हन पै कोउ ध्यान नही देत आय।
मीना कहब है कि विकास भवन मा कइयौ दरकी दरखास दीने हन हमरे राशनकार्ड मा 5 किलो अनाज बस मिलत है। हमार मनसवा बस का नाम हैं सब बच्चन का अउर मोर नाम कटा है ।
सम्पत बताइस कि कोटेदार हर दरकी कहत है राशनकार्ड देबै, पै नहीं देत है। राशन कार्ड आनलाइन करावै का हमरे लगे कउनौ कागज नहीं आय। सब कागज सदस्य का दइ दीने रहिंव , पै वा आज तक राशन कार्ड बना के नहीं दिहिस आय।
जिला पूर्ति अधिकारी निर्मल सिंदे का कहब है कि सत्यापन करै मा बहुतै मड़इन के नाम काट दीन गें हैं। हमार लगे येत्ता लक्ष्य नही आय कि सबका राशन कार्ड दीन जाये। गांवन खातिर 79.5 अउर शहर खातिर 74.4 प्रतिशत राशन कार्ड बने हैं।

रिपोर्टर- गीता

Published on Jan 10, 2017