बाँदा जिले के महुई गांव में हुई दातुन विवाद में तीन गिरफ्तार, तीन अब भी फरार

जिला बांदा, ब्लाक तिन्दवारी, गांव मंहुई दातून तोड़े के बात का लइ के 25 दिसम्बर का विश्वनाथ सिंह दलित जाति के लल्लू का गोली मार दिहिस रहै। तबै वहिके जान चली गे रहै। तबै पुलिस 3 आरोपिन का पकड़िस रहै, तीन अबै फरार है।
लल्लू के मेहरिया रामकली बताइस कि संतोष के जमीन मा बहुतै दिना से रहत हैं। जेठ ससुर से पानी निकले के बात का लइके झगड़ा होइ गा रहैं। जउन दिना गोली चली है, वा दिना जेठ ससुर सब कोउ रहा हैं पै दबंग मोर मनसवा का गोली मारिन हैं काहे से उंई पढ़े लिखे रहै अउर सरकारी कर्मचारी रहै हैं। मोर तीन छोट—छोट बच्चा है।
लल्लू का भाई पप्पू बताइस कि दबंग हमार पूर गांव मा कब्जा करे है, मड़इन का मुर्दा तक नहीं जलावै देत है गांव केसब मड़ई दबंगन से डेरात हैं।
राम जी ठाकुर का कहब है कि जबै गोली चली रहै तबै मैं हुंवा रहे हौं। गोली मोर पांव मा लाग रहैं। 2010 मा हमार बाबा का भी दबंग गोली मार के हत्या कइ दीन रहै। जमीन के कारन हमसे दुश्मनी रहि हैं।
विपक्ष के शिवभुवन सिंह का कहब हैं कि जउन लड़का मारा गा है वहिके पहिले नल मा पानी के कारन लड़ाई भे रहै। तबै वा लड़का का गोली मार दीन रहै।
प्रधान सुमित्रा का कहब है कि हमें दबंगन कइत से अबै भी धमकी मिलत है।
पै पुलिस अबै तक कउनौ कारवाही नहीं करिस आय।हमार पूर परिवार अबै भी डेर के साया मा जिए का मजबूर हवै।

रिपोर्टर- शिवदेवी अउर गीता

खबर का पहला भाग यहाँ देखें

Published on Jan 19, 2017