बाँदा जिले के नरैनी गांव बिल्हरका में बांध टूटने से किसानो के फसल का नुक्सान

जिला बांदा, ब्लाक नरैनी,गांव बिल्हरका जनवरी के महीना मा तूफान आवै से लगभग 50 बीघा गेहूं के फसल बर्बाद होइ गे हैं। तबै किसान तहसील मा मुआवजा के मांग करिन हैं। बांध सिंचाई विभाग के लापरवाही से टूटी है।
शिवशरन का कहब है कि छ बीघा जमीन मा गेहूं बोवा रहा हैं। सगले पानी भर गा है जेहिसे हमार गेहूं के फसल सड़ी जात है। बांध बनावै वाले के गलती है जेहिसे बांध टूट गा है।
भीष्म सिंह का कहब है कि मोर चार बीघा गेहूं के फसल मा पानी भर गा हैं। या खेत हमार बाप के नाम है बगल वाला खेत तीन बीघा खेत रामशरन अहिवार का आय वहिमा भी पानी भर गा हैं। लेखपाल से कहे हन पै वा ध्यान नही देत आय।
तहसीदार जबै आदेश देहैं तबै लेखपाल जांच करै अइहैं। या नहर तीन साल मा दुइ दरकी टूट हैं हमार गांव का ठेकेदार रामअवतार सिंह नींक तान बांध नहीं बनवाइस आय यहै कारन बांध टूट गा हैं । हमार बांध अधिकारी अउर ठेकेदार के लापरवाही से टूट है ।
सिंचाई विभाग का ठेकेदार शहजाद खान का कहब है कि या नहर रामअवतार बनवाइस रहैं। माटी कम डारिस रहै जेहिसे मजबूत नहीं बनी रहै यहै कारन टूट गें है अब या दरकी मैं बांध बनवइहौं।

रिपोर्टर- गीता

27/01/2017 को प्रकाशित