बाँदा जिले के कई क्षेत्र में डिलीवरी पॉइंट पर डिलीवरी की सुविधाएं नहीं

जिला बांदा, ब्लाक नरैनी, गांव गुढ़ाकला, महुंवा, कालिंजर अउर परसहर हेंया के गांवन मा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र हैं। इं गांवन के स्वास्थ्य केन्द्र का डिलेवरी पाइंट घोषित कीन गा रहै। पै हेंया कउनौ सुविधा नहीं आय। डिलेवरी खातिर मेहरियन का नरैनी जाये का पड़त हैं। स्वास्थ्य विभाग कहत है हम सरकार के लगे आपन प्लान भेंज दीने हन।
कालिंजर की सुनीता, भूरी अउर उमा सोनकर लीला का कहब है कि मेहरियन का इमरजेंसी होय तौ हेंया के अस्पताल मा कउनौ
सुविधा नहीं आय। मेहरियन का डिलेवरी खातिर नरैनी जाये का पड़त हैं। हेंया के अस्पताल मा बच्चन वाला कउनौ डाक्टर नहीं आय। यहै कारन मेहरियन का नरैनी जाये का पड़त हैं जेहिसे कत्तौ-कत्तौ रास्ता मा बच्चा होइ जात हैं।
नंदू बताइस कि अस्पताल मा आक्सीजन का साधन नहीं आये या कारन मेहरिया अउर बच्चन का नरैनी जाये का पड़त हैं। सरकारी अस्पताल मा बाहर के दवाई लिख देत हैं। एम्बुलेस वाले 2 से 3 सौ रुपिया किराया मांगत हैं। गांव का अस्पताल घंटा दुइ घंटा का खुलत हैं फेर बंद होइ जात हैं।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाक्टर ए.वी. कटियार का कहब है कि जबै फंड आ जई तौ इं गांवन के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मा पूरी सुविधा दीन जई।

रिपोर्टर- मीरा देवी और गीता

Published on Jan 23, 2017