बाँदा के नरैनी ब्लॉक के कालिंजर क़स्बे में रोजी और राजा की 6 अगस्त को डूबने से मौत

जिला बांदा, ब्लाक नरैनी, क़स्बा करतल हेंया 6 अगस्त का तालाब मा नहायें खातिर बहिनी भाई रोजी अउर राजा गये रहैं। तालाब मा नहाये खातिर रोज़ी उतरी,पै वहिका गोड़ फिसल गा। रोजी का बचावै खातिर राजा तालाब मा उतर गा। यहिसे उंई दूनौ बच्चन के तालाब मा डूबै से मउत होइगे है।
जावेद नाम के लड़के का कहब है कि हम सबै तालाब मा नहाये खातिर गये रहै। हमार महतारी कहिस कि हेंया बइठ के नहा लेव। हम लोग नहाये लागेन यतने मा रोजी भी कहिस कि मै भी नहा लेव। वा तालाब मा नहाये खातिर उतरी तौ वा फिसल के गिर गे। वहिका बचावै मा राजा भी डूब के मर गा है।
बच्चन के बाप अली बख्श का कहब है कि बहन के बच्चन साथ रोजी अउर राजा गे रहैं।मोहिका का पता रहै कि आज मोरे बच्चा घर लउट ना अइहै नहीं तौ मैं अपने बच्चन का तालाब नहाये खातिर न जाये देतेंव। रन्नो का कहब है कि जबै रानी अउर राजा तालाब मा डूबत रहैं तौ मैं बहुतै हल्ला कीनेव,पै बचावै खातिर कउनौ नहीं आवा। सबै या कहत रहैं कि हमका तैरब नहीं आवत है। यहिसे पास मा काम करै वाले मजदूर तालाब मा उतरिन तबै तक बच्चा मर चुके रहैं। मेला कमेटी के अध्यक्ष बांसु सोनकर कहिस कि तालाब के पास सेक्रेट्री लागै का चाही। काहे से कि तालाब मा कइयौ लोग मर चुके हैं।
रिपोर्टर- गीता 
10/08/2016 को प्रकाशित

बाँदा के नरैनी ब्लॉक के कालिंजर क़स्बे में रोजी और राजा की 6 अगस्त को डूबने से मौत