बाँदा की मुन्नी देवी बाताती हैं आजादी के मायने

 

जिला बांदा, शहर  बांदा, औरतन के आज़ादी का लइके खबर लहरिया पत्रकार मुन्नी देवी से बात चीत करिन। काहे से कि मुन्नी देवी पच्चीस साल से कांग्रेस पार्टी से जुड़ी है।
मुन्नी देवी का कहब है कि मैं कचहरी जात हौं। हुंवा राशन कार्ड के आनलाइन फ़ारम,विधवा अउर विकलांग पेंशन का काम करवावत हौं। दूसर बात मैं इनतान के औरतन के मदद करत हौं जउन औरतें कचहरी अउर अधिकारी के लगे जाये मा डेरात हैं। मैं उंई औरतन का अपने साथै लइके जात हौं। यहिके साथै साथ मैं उनका हिम्मत देत हौं कि कउनौ से दब के नहीं रहा जात है हैं। तुम जेतना डेरइहौ। वोतना डेर बना रही। देश के आज़ाद होय से पहिले
पहिले औरतें आज़ाद रहैं,पै अब औरतें आज़ाद निहाय। काहे से कि पहिले औरतन अउर लड़किन साथै छेड़खानी अउर बलात्कार नहीं होत रहैं। हां पहिले से लड़किन के पढ़ाई खातिर बदलाव जरुर भा है।
अब हर क्षेत्र मा औरते नौकरी करत है। यहिके बादौ औरते अपने मरज़ी से कउनौ काम नहीं। कइ सकत हैं। काहे से कि उनके हर काम मा मनसवा रोक लगावत हैं। आज के समय मा अत्याचार अउर घूस खोरी बहुतै ज़्यादा बढ़ गे हैं। महंगाई देखौ तौ वा भी रोजै बढ़त जात है। या कारन से गरीब मड़ई दुइ जून पेट भर रोटी नहीं खा सकत हैं। पहिले महंगाई कम रहै। मड़ई पेट भर खाना खात रहैं अउर खुश रहत रहंै।

रिपोर्टर- मीरा देवी