बस्तर में काम करने वाले पत्रकार कमल शुक्ला को फेसबुक पर कार्टून शेयर करने के लिए गिरफ्तार किया

कमल शुक्ल/फेसबुक

छत्तीसगढ़ में बस्तर के पत्रकार कमल शुक्ला के खिलाफ राजद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया है। यह मुकदमा कथित तौर पर देश की न्यायपालिका और सरकार के खिलाफ आपत्तिजनक कार्टून पोस्ट करने से जुड़ा है।
एक अखबार के अनुसार, पत्रकार कमल शुक्ला के खिलाफ कांकेर के कतवाली पुलिस थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है। कांकेर के पुलिस अधीक्षक केएल ध्रुव ने बताया कि हमने राजस्थान के रहने वाले एक शख्स की शिकायत पर शुक्ला के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 124-ए (राजद्रोह) के तहत मुकदमा दर्ज किया है। रायपुर की साइबर सेल ने यह केस हमारे हवाले किया है। जांच चल रही है और जल्द ही उपर्युक्त कार्रवाई की जाएगी।
बता दें कि कमल शुक्ला भूमकाल समाचार के संपादक हैं। वो स्थानीय स्तर पर छत्तीसगढ़ में होने वाले फर्जी मुठभेड़ के खिलाफ आवाज उठाने के लिए जाने जाते हैं।
केस दर्ज होने के बाद कमला शुक्ला के फेसबुक वॉल पर पोस्ट अपलोड किया है जिसमें उन्होंने बताया था कि वो कार्टून जज बीएच लोया की मौत पर बनाया गया था। उन्होंने ये भी कहा कि कुछ दक्षिणपंथी कार्यकर्ता उन्हें टारगेट कर रहे हैं ताकि वो सरकार को एक्सपोज न कर पाएं। लेकिन उन्होंने कहा कि वो फिर भी लोकतंत्र की रक्षा के लिए लिखते रहेंगे।